** 24 ज़िलहिज्ज - ईद मुबाहिला  **

 

मुबाहिला का वाकया हिजरी कैलन्डर के 9वें साल में हुआ। इस घटना में 14 ईसाई विद्वानों (नजरान) का एक दल इस्लाम की सत्यता पर तर्क करने हज़रत मोहम्मद (स:अ:व:व) के पास आया ! दोनों पक्षों ने अपने अपने तर्क रखे लेकिन कुछ दिन बीत जाने के बाद भी इसाईओं के दल ने तर्क नहीं माना, तभी अल्लाह ने यह आयत नाजिल की :

"ये आयतें है और हिकमत (तत्वज्ञान) से परिपूर्ण अनुस्मारक, जो हम तुम्हें सुना रहे हैं (कुरान 3:58), निस्संदेह अल्लाह की दृष्टि में ईसा की मिसाल आदम जैसी है कि उसे मिट्टी से बनाया, फिर उससे कहा, "हो जा", तो वह हो जाता है (कुरान 3:59), यह हक़ तुम्हारे रब की ओर से हैं, तो तुम संदेह में न पड़ना (कुरान 3:60), अब इसके पश्चात कि तुम्हारे पास ज्ञान आ चुका है, कोई तुमसे इस विषय में कुतर्क करे तो कह दो, "आओ, हम अपने बेटों को बुला लें और तुम भी अपने बेटों को बुला लो, और हम अपनी स्त्रियों को बुला लें और तुम भी अपनी स्त्रियों को बुला लो, और हम अपने को और तुम अपने को ले आओ, फिर मिलकर प्रार्थना करें और झूठों पर अल्लाह की लानत भेजे।" (कुरान 3:61)"

मशहूर रिवायत के मुताबिक 24 ज़िलहिज्ज ईद मुबाहिला का दिन है! इस दिन पवित्र पैगंबर (स:अ:व:व) ने नजरान के नसारा (ईसाईयों) से मुबाहिला किया था! घटना इस प्रकार है की हजरत रसूल अल्लाह (स:अ:व:व) ने अपनी अबा (चादर) ओढ़ी फिर अमीर-अल मोमिनीन अली इब्न अबी तालिब (अ:स) जनाब फ़ातिमा (स:अ) हज़रत हसन (अ:स) व हज़रत हुसैन (अ:स) को अपनी अबा में ले लिया और फरमाया की "या अल्लाह, हर नबी के अहलेबैत होते हैं और यह मेरे अहलेबैत (अ:स) हैं, इनसे हर क़िस्म की जाहिरी और बातिनी बुराई को दूर रख और इनको इस तरह पाक रख जैसे पाक रखने का हक है, इस वक़्त जिब्राइल अमीन (अ:स) ततहीर की आयत लेकर नाजिल हुए और इसके बाद हज़रत रसूल ख़ुदा (स:अ:व:व) ने इन चार हस्तियों को अपने साथ लिया और मुबाहिला के लिए निकले! नजरान के नुसार ने जब आपको इस शान से आते देखा और अज़ाब की अलामत को सोचा तो मुबाहिला से हट कर सुलह कर ली और जज़िया देने पर राज़ी हो गए! आज ही  के दिन अमीरल मोमिनीन हज़रात अली (अ:स) ने एक मांगने वाले को रुकू'अ की हालत में अंगूठी दी थी, और आपकी शान में "इन्नमा वली यकुमुल'लाह----(आयत मुबारकः ) नाजिल हुई थी ! आज का दिन बहुत बड़ी अज़मत और खुसूसियत का है और इस दिन के कुछ अमाल इस प्रकार  हैं :

 

अमाल

1. गुसल करें और हो सके तो नया या फिर साफ़ कपड़े पहनें 
2. रोज़ा रखें और सदका दें 
3. 2 रक्'अत नमाज़ पढ़ें जिसका वक़्त (ज़वाल) तरतीब और सवाब ईद गदीर की तरह ही है अलबत्ता इसमें आयत अल-कुर्सी को "हुम् फ़ीहा खालिदून" तक पढ़ें (यानि हर रक्'अत में सुराः अल-फातिहा के बाद (1) सुराः इख्लास 10 मर्तबा (2) आयत अल-कुर्सी 10 मर्तबा (3) सुराः अल-क़द्र 10 मर्तबा 
4. नीचे लिखी हुई दुआ पढ़ें!
5. ज़्यारत जामिया कबीर और ज़्यारत जामिया सगीर को पढने की भी ताकीद की गयी है!

 

 
 

अरबी-PDF         Mp3           ईद मुबाहिला PDF

 
  दुआए मुबाहिला : यह रमजान की दुआए सेहर की तरह है और इसको शेख और सैय्यद दोनों ने नकल फ़रमाया है ! चूँकि इन दोनों बुजुर्गों के नक़ल कि हुई दुआ में कुछ फर्क है लिहाज़ा याहन हम इसे शेख की किताब मिस्बाह की रिवायत के मुताबिक़ लिख रहे हैं! शेख का कहना है की इमाम जाफ अल-सादिक (अ:स) ने दुआए मुबाहिला की बहुत ज़्यादा फ़ज़ीलत  ब्यान की है! और वोह दुआ यह है: -  
         
 

अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन बहा'इका बी'अबाहू व कुल्लू बहा'इका बहिय्य, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन बहा'इका कुल्लीह, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन जलालिका बी'जल्लीही व कुल्लू जलालिका जलील, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'जलालिका कुल्लीह, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन जमालिका बी'जमालिही, व कुल्लू जमालिका जमील अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'जमालिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़'अस्ताजिब ली कमा वा'अदतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अ'ज़मातिका बि'आ-ज़मातिका व कुल्लू 'ज़मातिका अज़ीम, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि 'आ-ज़मातिका कुल्लीहा, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन नूरिका बी'अन्वारिही व कुल्लू नूरिका नय्यिर अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'नूरिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन रहमतिका बी'अव्सा'इहा व कुल्लू रहमतिका व असिया'अह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'रहमतिका कुल्लीहा अल्लाहुम्मा इन्नी अद'उका कमा अमर'तनी 'अस्तजिब फ'ली कमा व आ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन कमालिका बी अक्मालिही व कुल्लू कमालिका कामिल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कमालिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कमालिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन कमालिका बी'अतम-महा व कुल्लू कलिमातिका ता'अममाह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कलिमातिका कुल्लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अस्मा'इका बी'अकबरिहा व कुल्लू इस्माईका कबीरह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'अस्मईका कुललिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर'तानी फ'अस्ताजिब ले कमा व अ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन ईज़'ज़िहा व कुल्लू ईज़ ज़तिका अज़िजः अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'ईज़-ज़तीका कुल'लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन मशी'अतिका बी'अम्ज़ाहा व कुल्लू मशी'अतिका माँ'ज़ियाह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि'मशी'अतिका कुल्लीहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कुद'रतिकल लातिस-तत'अलता बिहा अला कुल्ली शै'इन व कुल्लू कुद'रतिका मुस'ततीलह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-कुद'रतिका कुल्लीहा अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमरतनी फ़ा'अस्तजिब ली कमा व अ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन'इलमिका बी'अन्फज़िही व कुल्लू इल्मिका नाफ़िज़ अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बीइलमिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन कौलीका बि-अर्ज़ाहू कुल्लू कौलीका रज़िय्य अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि'कौलीका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन मसाइलिका बि-अहअबबिहा व कुल'लहा इलय्का हबीबह, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मसाइलिका कुल्लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़ा'अस्ताजिब ली व अ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन शराफ़ा'इका बि-अश्रफ़िही व कुल्लू शराफ़ा'इका शरीफ़ अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-शराफ़ा'इका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन सुता'आनिका बि-अज़'वमिही व कुल्लू सुता'आनिका दा-ईम, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-सुल्तानिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन मुलकिका बि-अफ'ज़रिही व कुल्लू मुलकिका फ़ाखिर अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मुलकिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ'अस्ताजिब ली कमा व-अदतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अला'इका बि-आ-लाहू कुल्लू अला'इका अ'अल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-अला'इका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन आयातिका बि--जिबहा व कुल्लू आयातिका अजीब अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-आयातिका कुल्लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन ममन्निका बि-अक़'दामिही व कुल्लू मन्निका क़दीम अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मन्निका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी 'अस्ताजिब ली कमा व-अअदतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मा अंता फ़िही मिनश शू-ऊनी वाल जबरूत अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिकुल्ली शानिन व कुल्ली जब्र्रोत अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मा तुजिब'ऊनि बिही ह'ईना अस'अलुका या अल्लाह या ला इलाहा इल्ला अन्ता अस'अलुका बी'बहाई ला इलाहा इल्ला अन्ता या ला इलाहा इल्ला अन्ता अस'अलुका बिजलाली ला इलाहा इल्ला अन्ता या ला इलाहा इल्ला अन्ता अस'अलुका बि-ला इलाहा इल्ला अन्ता अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़ा'अस्तजिब ली कमा वा''दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन रिज़'क़ी-का बि--अम्मिही व कुल्लू रिज़'क़ी-का आम्म अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिरिज़'क़ी-का कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अता'ईका बि-अहना'इही कुल्लू अता'इका हनी'उन अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-अता'इका कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी असअलुका खैरिका बि-अज्लिही व कुल्लू खैरिका 'अजिल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिखैरिका कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन फ़ज़'लिका बि-अफ्ज़ालिही व कुल्लू फ़ज़'लिका फ़ा'अज़्लिका फाज़िल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिफ़ज़'लिका कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़ा'अस्तजिब ली कमा वा''दतनी अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद व बा'आस्नी अलल इमानी बिका वत'तस्दीकी बिरसूलिका अलय्ही व अलैहिस'सलाम वाल'विलायती ली'अली'इब्नी अबी तालिब वाल बरा'अति मिन अदूविही वल इतिमामी बिल अ'इम्मती मिन आले मोहम्मदीन अलैहिमुस'सलाम फ़'इन्नी क़द'रज़ीतु बी'ज़ालिका या रब्ब अल्लाहुम्मा सल्ली अला मोहम्मदीन अब्दिका व रसूलिका फ़िल अव्वलीन व सल्ली अला मोहम्मदीन फिल आखिरीन व सल्ली अला मोहम्मदीन फिल मला'इल आ'ा वा सल्ली अला मोहम्मदीन फिल मुरसलीन, अल्लाहुम्मा आ'ता-ई अल्लाहुम्मा आ'ता-इ  मोहम्मदी'नील वसीलता वश शर्फा वल फ़ज़ी'लता वद दारा'जातल कबीरह अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद   क़ननिया-नी बीमा रज़ा'क़तनी वा बारीक ली फ़ीमा आतय्तनी वह'फ़ज़'नी गैबती वा फ़ी कुल्ली ग़ा'इबिन हवा ली अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद वा बा'असनी अ'लल इमानी बिका वत तस्दीकी बिरसूलिका अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद व अस'अलुका खैरल खैरी रिज़'वानका वल जन्नता व अ-उज़ोबिका मिन शर्रिश शर्री सख्त'इका वन नार अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद वह-फ़ज़-नी मिन कुल्ली मुसीबतिन वा मिन कुल्ली बलिय्यातीं वा मिन कुल्ली उक़ू'बातिन वा मिन कुल्ली फितनातिन वा मिन कुल्ली बला-इन वा मिन कुल्ली शररिन वा मिन कुल्ली मकरूहिन वा मिन कुल्ली 'फ़तिन 'ज़लत अव तन्ज़ीलू मीनास समा'इ इलल अर्ज़ी फ़ी हाज़िहिस सा'अती वा फी हाज़िहिल लैलती व फी हाज़ीहिल यौमी व फे हाज़िहिश शहरी वा फ़ी हाज़िहिस सनातिह अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद वा अक्सीम ली मिन कुल्ली सुरू'रिन वा मिन कुल्ली बह'जतिन वा मिन कुल्ली इस्ती'क़ा-मतीन वा मिन कुल्ली फ़राजिन वा मिन कुल्ली आफ़ी'यतिन वा मिन कुल्ली सलामतिन वा मिन कुल्ली करामतिन वा मिन कुल्ली रिज़'किन वासी-ईन हलालिन तैय्यीबिन वा मिन कुल्ली नियामतिन वा मिन कुल्ली सा-अतिन नाज़ालत अव तंज़िलू मिनस समाई इलल अर्ज़ी फी हाज़िहिस सा'अती वा फ़ी हाज़िहिल लैलती वा फ़ी हाज़िहिल यौमी वा फी हाज़िहिश शहरी वा फ़ी  हाज़िहिस सनाह अल्लाहुम्मा इन कानत ज़ुनूबी क़द अख्लाक़त वजही इन्दका वा हां'आलात बैनी वा बय्नका वा गयारत हा'आली इनदका फ़ा इन्नी अस'अलुका बि-नूरी वाज'हिकल-लज़ी ला युत्फ़ा-ऊ वा बिवज्ही मोहम्मदीन हबीबिकल मुस्तफ़ा वा बिवजही वली'यिका अली'यिनल मुर्तज़ा वा बिहक़की औलिया'इकल लज़ी'नन -तजब'तहुम अन तू'सल्ली अला मोहम्मदीन वा आली मोहम्मदीन वा आली मोहम्मद वा अन तगफ़ीर ली मा मज़' मिन ज़ुनूबी वा अन'ता सिमानी फ़ीमा बकिया मिन उमरी वा अ'उज़ो-बिका अल्लाहुम्मा अन अ-उज़ो फ़ी शै'इन मिन मा'आ-अस'ईका अबदन मा अब'कै-तानी ह'अत्ता ततावफ़-फ़नी वा एना लका मुत' उन वा अंता अन्नी राज़ी'ईन वा अन तख़'तिमा ली अमाली बि-अह्सानिही वा तज''लाली सवा'बहुल जन्नती वा अन तफ़'अला बी माँ अन्ता अहलुहु या अहलत तक़वा वा या अहलाल मग़फ़िरह या अहलाल  मग़फ़िरह सल्ली अला मोहम्मदीन वा आली मोहम्मद वा अर'हमनी बिरहमतिका या अर्हमर राहिमीन

 

اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ بَهَائِكَ بِبْهَاهُ وَكُلُّ بَهَائِكَ بَهِيٌّ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِبَهَائِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ جَلاَلِكَ بِجَلِّهِ وَكُلُّ جَلاَلِكَ جَليلٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِجَلاَلِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ جَمَالِكَ بِجْمَلِهِوَكُلُّ جَمَالِكَ جَميلٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِجَمَالِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي دْعُوكَ كَمَا مَرْتَنِي فَٱسْتَجِبْ لِي كَمَا وَعَدْتَنِي اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ عَظَمَتِكَ بِعْظَمِهَا وَكُلُّ عَظَمَتِكَ عَظَيمَةٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِعَظَمَتِكَ كُلِّهَا اَللَّهُمَّ إِنِّي اَسْلُكَ مِنْ نُورِكَ بِنْوَرِهِ وَكُلُّ نُورِكَ نَيِّرٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِنُورِكَ كُلِّه اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ رَحْمَتِكَ بِوْسَعِهَا وَكُلُّ رَحْمَتِكَ وَاسِعَةٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِرَحْمَتِكَ كُلِّهَا اَللَّهُمَّ إِنِّي دْعُوكَ كَمَا مَرْتَنِي فَٱسْتَجِبْ لِي كَمَا وَعَدْتَنِي اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ كَمَالِكَ بِكْمَلِهِ وَكُلُّ كَمَالِكَ كَامِلٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِكَمَالِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي اَسْلُكَ مِنْ كَلِمَاتِكَ بِتَمِّهَا وَكُلُّ كَلِمَاتِكَ تَامَّةٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِكَلِمَاتِكَ كُلِّهَا اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ سْمَائِكَ بِكْبَرِهَا وَكُلُّ سْمَائِكَ كَبيرَةٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِسْمَائِكَ كُلِّهَا اَللَّهُمَّ إِنِّي دْعُوكَ كَمَا مَرْتَنِي فَٱسْتَجِبْ لِي كَمَا وَعَدْتَنِي اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ عِزَّتِكَ بِعَزِّهَا وَكُلُّ عِزَّتِكَ عَزيزَةٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِعِزَّتِكَ كُلِّهَا اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ مَشِيَّتِكَ بِمْضَاهَا وَكُلُّ مَشِيَّتِكَ مَاضِيَةٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِمَشِيَّتِكَ كُلِّهَا اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِقُدْرَتِكَ ٱلَّتِي ٱسْتَطَلْتَ بِهَا عَلَىٰ كُلِّ شَيْءٍ وَكُلُّ قُدْرَتِكَ مُسْتَطيلَةٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِقُدْرَتِكَ كُلِّهَا اَللَّهُمَّ إِنِّي دْعُوكَ كَمَا مَرْتَنِي فَٱسْتَجِبْ لِي كَمَا وَعَدْتَنِي اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ عِلْمِكَ بِنْفَذِهِ وَكُلُّ عِلْمِكَ نَافِذٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِعِلْمِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ قَوْلِكَ بِرْضَاهُ وَكُلُّ قَوْلِكَ رَضِيٌّ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِقَوْلِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ مَسَائِلِكَ بِحَبِّهَا إِلَيْكَ وَكُلُّهَا إِلَيْكَ حَبيبةٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِمَسَائِلِكَ كُلِّهَا اَللَّهُمَّ إِنِّي دْعُوكَ كَمَا مَرْتَنِي فَٱسْتَجِبْ لِي كَمَا وَعَدْتَنِي اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ شَرَفِكَ بِشْرَفِهِ وَكُلُّ شَرَفِكَ شَريفٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِشَرَفِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ سُلْطَانِكَ بِدْوَمِهِ وَكُلُّ سُلطَانِكَ دَائِمٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِسُلْطَانِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ مُلْكِكَ بِفْخَرِهِ وَكُلُّ مُلْكِكَ فَاخِرٌاَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِمُلْكِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي دْعُوكَ كَمَا مَرْتَنِي  فَٱسْتَجِبْ لِي كَمَا وَعَدْتَنِي اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ عَلاَئِكَ بِعْلاَهُ وَكُلُّ عَلاَئِكَ عَال اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِعَلاَئِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ آيَاتِكَ بِعْجَبِهَا وَكُلُّ آيَاتِكَ عَجيبَةٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِآيََاتِكَ كُلِّهَا اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ مَنِّكَ بِقْدَمِهِ وَكُلُّ مَنِّكَ قَديمٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِمَنِّكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي دْعُوكَ كَمَا مَرْتَنِي فَٱسْتَجِبْ لِي كَمَا وَعَدْتَنِي اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِمَا نْتَ فيهِ مِنَ ٱلشُّؤُونِ وَٱلْجَبَرُوتِ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِكُلِّ شَانٍ وَكُلِّ جَبَرُوتٍ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِمَا تُجيبُنِي بِهِ حينَ سْلُكَ يَا اللَّهُ يَا لاَ إِلٰهَ إِلاَّ نْتَ سْلُكَ بِبَهَاءِ لاَ إِلٰهَ إِلاَّ نْتَ يَا لاَ إِلٰهَ إِلاَّ نْتَ سْلُكَ بِجَلاَلِ لاَ إِلٰهَ إِلاَّ نْتَ يَا لاَ إِلٰهَ إِلاَّ نْتَ سْلُكَ بِلاَ إِلٰهَ إِلاَّ نْتَ  اَللَّهُمَّ إِنِّي دْعُوكَ كَمَا مَرْتَنِي فَٱسْتَجِبْ لِي كَمَا وَعَدْتَنِي اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ رِزْقِكَ بِعَمِّهِ وَكُلُّ رِزْقِكَ عَامُّ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِرِزْقِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ عَطَائِكَ بِهْنَئِهِ وَكُلُّ عَطَائِكَ هَنِيءٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِعَطَائِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ خَيْرِكَ بِعْجَلِهِ وَكُلُّ خَيْرِكَ عَاجِلٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِخَيْرِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ مِنْ فَضْلِكَ بِفْضَلِهِ وَكُلُّ فَضْلِكَ فَاضِلٌ اَللَّهُمَّ إِنِّي سْلُكَ بِفَضْلِكَ كُلِّهِ اَللَّهُمَّ إِنِّي دْعُوكَ كَمَا مَرْتَنِي فَٱسْتَجِبْ لِي كَمَا وَعَدْتَنِي اَللَّهُمَّ صَلِّ عَلَىٰ مُحَمَّدٍ وَآلِ مُحَمَّدٍ وَٱبْعَثْنِي عَلَىٰ ٱلإِيـمَانِ بِكَ وَٱلتَّصْدِيقِ بِرَسُولِكَ عَلَيْهِ وَآلِهِ ٱلسَّلاَمُ  وَٱلْوِلاَيَةِ لِعَلِيِّ بْنِ بِي طَالِبٍ وَٱلْبَرَاءَةِ مِنْ عَدُوِّهِ وَٱلاِئْتِمَامِ بِٱلئِمَّةِ مِنْ آلِ مُحَمَّدٍِ عَلَيْهِمُ ٱلسَّلاَمُ  فَإِنِّي قَدْ رَضِيتُ بِذٰلِكَ  يَا رَبِّ اَللَّهُمَّ صَلِّ عَلَىٰ مُحَمَّدٍعَبْدِكَ وَرَسُولِكَ فِي ٱلوَّلينَ وَصَلِّ عَلَىٰ مُحَمَّدٍ فِي ٱلآخِرِينَ وَصَلِّ عَلَىٰ مُحَمَّدٍ فِي ٱلْمَلأِ ٱلعْلَىٰ وَصَلِّ عَلَىٰ مُحَمَّدٍ فِي ٱلْمُرْسَلِينَ اَللَّهُمَّ عْطِ مُحَمَّداً ٱلْوَسيلَةَ وَٱلشَّرَفَ وَٱلْفَضِيلَةَ وَٱلدَّرَجَةَ ٱلْكَبيرَةَ اَللَّهُمَّ صَلِّ عَلَىٰ مُحَمَّدٍ وَآلِ مُحَمَّدٍ وَقَنِّعْنِي بِمَا رَزَقْتَنِي وَبَارِكْ لِي فِيمَا آتَيْتَنِي وَٱحْفَظْنِي فِي غَيْبَتِي وَكُلِّ غَائِبٍ هُوَ لِي اَللَّهُمَّ صَلِّ عَلَىٰ مُحَمَّدٍ وَآلِ مُحَمَّدٍ وَٱبْعَثْنِي عَلَىٰ ٱلإِيـمَانِ بِكَ وَٱلتَّصْدِيقِ بِرَسُولِكَ اَللَّهُمَّ صَلِّ عَلَىٰ مُحَمَّدٍ وَآلِ مُحَمَّدٍ وَسْلُكَ خَيْرَ ٱلْخَيْرِ رِضْوَانَكَ وَٱلْجَنَّةَ وَعُوذُ بِكَ مِنْ شَرِّ ٱلشَرِّ سَخَطِكَ وَٱلنَّارِ اَللَّهُمَّ صَلِّ عَلَىٰ مُحَمَّدٍ وَآلِ مُحَمَّدٍ وَٱحْفَظْنِىٰ مِنْ كُلِّ مُصِيبَةٍ وَمِنْ كُلِّ بَلِيَّةٍوَمِنْ كُلِّ عُقُوبَةٍ وَمِنْ كُلِّ فِتْنَةٍ وَمِنْ كُلِّ بَلاَءٍ وَمِنْ كُلِّ شَرٍّ وَمِنْ كُلِّ مَكْرُوهٍ وَمِنْ كُلِّ مُصِيبَةٍ وَمِنْ كُلِّ آفَةٍ نَزَلَتْ وْ تَنْزِلُ مِنَ ٱلسَّمَاءِ إِلَىٰ ٱلرْضِ فِي هٰذِهِ ٱلسَّاعَةِ وَفِي هٰذِهِ ٱللَّيْلَة ِ وَفِي هٰذَا ٱلْيَومِ وَفِي هٰذَا ٱلشَّهْرِ وَفِي هٰذِهِ ٱلسَّنَةِاَللَّهُمَّ صَلِّ عَلَىٰ مُحَمَّدٍ وَآلِ مُحَمَّدٍ وَٱقْسِمْ لِي مِنْ كُلِّ سُرُورٍ وَمِنْ كُلِّ بَهْجَةٍ وَمِنْ كُلِّ ٱسْتِقَامَةٍ وَمِنْ كُلِّ فَرَجٍ وَمِنْ كُلِّ عَافِيَةٍ وَمِنْ كُلِّ سَلاَمَةٍ وَمِنْ كُلِّ كَرَامَةٍ وَمِنْ كُلِّ رِزْقٍ وَاسِعٍ حَلاَلٍ طَيِّبٍ وَمِنْ كُلِّ نِعْمَةٍ وِمَنْ كُلِّ سَعَة نَزَلَتْ وْ تَنْزِلُ مِنَ ٱلسَّمَاءِ إِلَىٰ ٱلرْضِ فِي هٰذِهِ ٱلسَّاعَةِ وَفِي هٰذِهِ ٱللَّيْلَةِ  وَفِي هٰذَا ٱلْيَوْمِ وَفِي هٰذَا ٱلشَّهْرِ وَفِي هٰذِهِ ٱلسَّنَةِ اَللَّهُمَّ إِنْ كَانَتْ ذُنُوبِي قَدْ خْلَقَتْ وَجْهِي عِنْدَكَ وَحَالَتْ بَيْنِي وَبَيْنَكَ وَغَيَّرَتْ حَالِي عِنْدَكَ فَإِنِّي سْلُكَ بِنُورِ وَجْهِكَ ٱلَّذِي لاَ يُطْفَاوَبِوَجْهِ مُحَمَّدٍ حَبِيبِكَ ٱلْمُصْطَفَىٰ وَبِوَجْهِ وَلِيِّكَ عَلِيٍّ ٱلْمُرْتَضَىٰ وَبِحَقِّ وْلِيَائِكَ ٱلَّذِينَ ٱنْتَجَبْتَهُمْ نْ تُصَلِّيَ عَلَىٰ مُحَمَّدٍ وَآلِ مُحَمَّدٍ وَنْ تَغْفِرَ لِي مَا مَضَىٰ مِنْ ذُنُوبِي وَنْ تَعْصِمَنِي فِيمَا بَقِيَ مِنْ عُمْرِي وَعُوذُ بِكَ ٱللَّهُمَّ نْ عُودَ فِي شَيْءٍ مِنْ مَعَاصِيكَ بَداً مَا بْقَيْتَنِي حَتَّىٰ تَتَوَفَّانِي وَنَا لَكَ مُطيعٌ وَنْتَ عَنِّي رَاضٍ وَنْ تَخْتِمَ لِي عَمَلِي بِحْسَنِهِ وَتَجْعَلَ لِي ثَوَابَهُ ٱلْجَنَّةَ وَنْ تَفْعَلَ بِي مَا نْتَ هْلُهُ يَا هْلَ ٱلتَّقْوَىٰ وَيَا هْلَ ٱلْمَغْفِرَةِ صَلِّ عَلَىٰ مُحَمَّدٍ وَآلِ مُحَمَّدٍ وَٱرْحِمْنِي بِرَحْمَتِكَ يَا رْحَمَ ٱلرَّاحِمِينَ  

 

अरबी अनुवाद के साथ 

बिस्मिल्लाहिर रहमानिर रहीम 

 

बिस्मिल्लाहिर रहमानिर रहीम 

अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन बहा'इका बी'अबाहू व कुल्लू बहा'इका बहिय्य, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन बहा'इका कुल्लीह, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन जलालिका बी'जल्लीही व कुल्लू जलालिका जलील, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'जलालिका कुल्लीह, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन जमालिका बी'जमालिही, व कुल्लू जमालिका जमील अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'जमालिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़'अस्ताजिब ली कमा वा'अदतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अ'ज़मातिका बि'आ-ज़मातिका व कुल्लू अ'ज़मातिका अज़ीम, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि 'आ-ज़मातिका कुल्लीहा, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन नूरिका बी'अन्वारिही व कुल्लू नूरिका नय्यिर अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'नूरिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन रहमतिका बी'अव्सा'इहा व कुल्लू रहमतिका व असिया'अह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'रहमतिका कुल्लीहा अल्लाहुम्मा इन्नी अद'उका कमा अमर'तनी फ'अस्तजिब फ'ली कमा व आ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन कमालिका बी अक्मालिही व कुल्लू कमालिका कामिल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कमालिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कमालिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन कमालिका बी'अतम-महा व कुल्लू कलिमातिका ता'अममाह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कलिमातिका कुल्लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अस्मा'इका बी'अकबरिहा व कुल्लू इस्माईका कबीरह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'अस्मईका कुललिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर'तानी फ'अस्ताजिब ले कमा व अ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन ईज़'ज़िहा व कुल्लू ईज़ ज़तिका अज़िजः अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'ईज़-ज़तीका कुल'लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन मशी'अतिका बी'अम्ज़ाहा व कुल्लू मशी'अतिका माँ'ज़ियाह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि'मशी'अतिका कुल्लीहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कुद'रतिकल लातिस-तत'अलता बिहा अला कुल्ली शै'इन व कुल्लू कुद'रतिका मुस'ततीलह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-कुद'रतिका कुल्लीहा अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमरतनी फ़ा'अस्तजिब ली कमा व अ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन'इलमिका बी'अन्फज़िही व कुल्लू इल्मिका नाफ़िज़ अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बीइलमिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन कौलीका बि-अर्ज़ाहू कुल्लू कौलीका रज़िय्य अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि'कौलीका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन मसाइलिका बि-अहअबबिहा व कुल'लहा इलय्का हबीबह, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मसाइलिका कुल्लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़ा'अस्ताजिब ली व अ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन शराफ़ा'इका बि-अश्रफ़िही व कुल्लू शराफ़ा'इका शरीफ़ अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-शराफ़ा'इका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन सुता'आनिका बि-अज़'वमिही व कुल्लू सुता'आनिका दा-ईम, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-सुल्तानिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन मुलकिका बि-अफ'ज़रिही व कुल्लू मुलकिका फ़ाखिर अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मुलकिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ'अस्ताजिब ली कमा व-अअदतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अला'इका बि-आ-लाहू कुल्लू अला'इका अ'अल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-अला'इका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन आयातिका बि-आ-जिबहा व कुल्लू आयातिका अजीब अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-आयातिका कुल्लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन ममन्निका बि-अक़'दामिही व कुल्लू मन्निका क़दीम अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मन्निका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ'अस्ताजिब ली कमा व-अअदतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मा अंता फ़िही मिनश शू-ऊनी वाल जबरूत अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिकुल्ली शानिन व कुल्ली जब्र्रोत अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मा तुजिब'ऊनि बिही ह'ईना अस'अलुका या अल्लाह या ला इलाहा इल्ला अन्ता अस'अलुका बी'बहाई ला इलाहा इल्ला अन्ता या ला इलाहा इल्ला अन्ता अस'अलुका बिजलाली ला इलाहा इल्ला अन्ता या ला इलाहा इल्ला अन्ता अस'अलुका बि-ला इलाहा इल्ला अन्ता अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़ा'अस्तजिब ली कमा वा'आ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन रिज़'क़ी-का बि-अ-अम्मिही व कुल्लू रिज़'क़ी-का अआम्म अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिरिज़'क़ी-का कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अता'ईका बि-अहना'इही कुल्लू अता'इका हनी'उन अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-अता'इका कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी असअलुका खैरिका बि-अज्लिही व कुल्लू खैरिका अ'अजिल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिखैरिका कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन फ़ज़'लिका बि-अफ्ज़ालिही व कुल्लू फ़ज़'लिका फ़ा'अज़्लिका फाज़िल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिफ़ज़'लिका कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़ा'अस्तजिब ली कमा वा'आ'दतनी अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद व बा'आस्नी अलल इमानी बिका वत'तस्दीकी बिरसूलिका अलय्ही व अलैहिस'सलाम वाल'विलायती ली'अली'इब्नी अबी तालिब वाल बरा'अति मिन अदूविही वल इतिमामी बिल अ'इम्मती मिन आले मोहम्मदीन अलैहिमुस'सलाम फ़'इन्नी क़द'रज़ीतु बी'ज़ालिका या रब्ब अल्लाहुम्मा सल्ली अला मोहम्मदीन अब्दिका व रसूलिका फ़िल अव्वलीन व सल्ली अला मोहम्मदीन फिल आखिरीन व सल्ली अला मोहम्मदीन फिल मला'इल आ'ा वा सल्ली अला मोहम्मदीन फिल मुरसलीन, अल्लाहुम्मा आ'ता-ई अल्लाहुम्मा आ'ता-इ  मोहम्मदी'नील वसीलता वश शर्फा वल फ़ज़ी'लता वद दारा'जातल कबीरह अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद   क़ननिया-नी बीमा रज़ा'क़तनी वा बारीक ली फ़ीमा आतय्तनी वह'फ़ज़'नी गैबती वा फ़ी कुल्ली ग़ा'इबिन हवा ली अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद वा बा'असनी अ'लल इमानी बिका वत तस्दीकी बिरसूलिका अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद व अस'अलुका खैरल खैरी रिज़'वानका वल जन्नता व अ-उज़ोबिका मिन शर्रिश शर्री सख्त'इका वन नार अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद वह-फ़ज़-नी मिन कुल्ली मुसीबतिन वा मिन कुल्ली बलिय्यातीं वा मिन कुल्ली उक़ू'बातिन वा मिन कुल्ली फितनातिन वा मिन कुल्ली बला-इन वा मिन कुल्ली शररिन वा मिन कुल्ली मकरूहिन वा मिन कुल्ली आ'फ़तिन न'ज़लत अव तन्ज़ीलू मीनास समा'इ इलल अर्ज़ी फ़ी हाज़िहिस सा'अती वा फी हाज़िहिल लैलती व फी हाज़ीहिल यौमी व फे हाज़िहिश शहरी वा फ़ी हाज़िहिस सनातिह अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद वा अक्सीम ली मिन कुल्ली सुरू'रिन वा मिन कुल्ली बह'जतिन वा मिन कुल्ली इस्ती'क़ा-मतीन वा मिन कुल्ली फ़राजिन वा मिन कुल्ली आफ़ी'यतिन वा मिन कुल्ली सलामतिन वा मिन कुल्ली करामतिन वा मिन कुल्ली रिज़'किन वासी-ईन हलालिन तैय्यीबिन वा मिन कुल्ली नियामतिन वा मिन कुल्ली सा-अतिन नाज़ालत अव तंज़िलू मिनस समाई इलल अर्ज़ी फी हाज़िहिस सा'अती वा फ़ी हाज़िहिल लैलती वा फ़ी हाज़िहिल यौमी वा फी हाज़िहिश शहरी वा फ़ी  हाज़िहिस सनाह अल्लाहुम्मा इन कानत ज़ुनूबी क़द अख्लाक़त वजही इन्दका वा हां'आलात बैनी वा बय्नका वा गयारत हा'आली इनदका फ़ा इन्नी अस'अलुका बि-नूरी वाज'हिकल-लज़ी ला युत्फ़ा-ऊ वा बिवज्ही मोहम्मदीन हबीबिकल मुस्तफ़ा वा बिवजही वली'यिका अली'यिनल मुर्तज़ा वा बिहक़की औलिया'इकल लज़ी'नन -तजब'तहुम अन तू'सल्ली अला मोहम्मदीन वा आली मोहम्मदीन वा आली मोहम्मद वा अन तगफ़ीर ली मा मज़'आ मिन ज़ुनूबी वा अन'ता सिमानी फ़ीमा बकिया मिन उमरी वा अ'उज़ो-बिका अल्लाहुम्मा अन अ-उज़ो फ़ी शै'इन मिन मा'आ-अस'ईका अबदन मा अब'कै-तानी ह'अत्ता ततावफ़-फ़नी वा एना लका मुत' उन वा अंता अन्नी राज़ी'ईन वा अन तख़'तिमा ली अमाली बि-अह्सानिही वा तज'अ'लाली सवा'बहुल जन्नती वा अन तफ़'अला बी माँ अन्ता अहलुहु या अहलत तक़वा वा या अहलाल मग़फ़िरह या अहलाल  मग़फ़िरह सल्ली अला मोहम्मदीन वा आली मोहम्मद वा अर'हमनी बिरहमतिका या अर्हमर राहिमीन   ऐ माबूद तलब करता हूँ (सवाल करता हूँ) तुझ से तेरे रौशन तरीन नूर में से और तेरा हर नूर दरख्शां है! ऐ माबूद ! मैं सवाल करता हूँ तेरे तमाम नूर के वास्ते, ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे बहुत बड़े जलवे में से और तेरा हर जलवा बहुत बड़ा जलवा हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे तमाम जलवा के वास्ते,  ऐ माबूद! मैं तलब करता हूँ तुझ से तेरे बेहतरीन जमाल में से और तेरा हर जमाल पसंदीदा व बेहतरीन है,  ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तेरे पुरे जमाल के वास्ते, ऐ माबूद! मैं पुकारता हूँ तुझे जैसा की तूने हुक्म किया, बस मेरी दुआ कबूल कर जैसा तूने वादा किया है, ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी बड़ी बुज़ुर्गी में से और तेरी हर बुज़ुर्गी ही बड़ी है, ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी पूरी बुज़ूर्गी के वास्ते, ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे रौशन नूर में से और तेरा हर नूर रौशन है, ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे पूरी नूर के वास्ते,  ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी वसी'अ तर रहमत में से और तेरी साड़ी रहमत वसी'अ है   ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी पूरी रहमत के वास्ते,   ऐ माबूद! मैं दुआ करता हूँ तुझ से जैसा तूने हुक्म किया, बस मेरी दुआ कबूल कर जैसा की तूने वादा किया है,   ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे कामिल तरीन कमाल में से और तेरा हर कमाल ही कामिल है,   ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे पुरे कमाल के वास्ते,   ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे सालिम तरीन कलमात में से और तेरे सब कलमात ही सालिम तरीन हैं, ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे पूरे कलमात के वास्ते, ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे बहुत बड़े नामों में से और तेरे सारे ही नाम बड़े हैं, ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे तमाम तर नामों के वास्तेऐ माबूद! मैं दुआ करता हूँ तुझ से जैसा तूने हुक्म दिया बस कबूल कर मेरी दुआ जैसा तूने वादा कियाऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी बहुत बड़ी इज्ज़त में से और तेरी हर इज्ज़त बहुत बड़ी हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी तमामतर इज्ज़त के वास्तेऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे इरादे में से जो नाफ़िज़ होने वाला है और तेरा हर इरादा नाफ़िज़ होने वाला हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे पुरे इरादे के वास्तेऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी कुदरत का जिस से तू हर चीज़ पर ग़लबा व जलवा रखता है और तेरी हर कुदरत क़ाबिज़ व ग़लिब हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी तमामतर कुदरत के वास्तेऐ माबूद! मैं दुआ करता हूँ तुझ से जैसा तूने हुक्म किया है बस मेरी दुआ कबूल कर जैसा तूने वादा किया हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ सेतेरे बहुत जारी होने वाले इल्म में से और तेरा हर इल्म जारी हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे तमामतर इल्म के वास्तेऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे बड़े खुश आइंद कौल में से और तेरा हर कौल खुश'आइंद होता हैऐ माबूद! मैं  वोह सभी तेरे नज़दीक महबूब हैंऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ सेतेरे पुरे कौल के वास्ते, ऐ माबूद! मैं तलब करता हूँ तुझ से तेरे महबूब तरीन सवालों में से और तेरे सभी सवालों के वास्ते, ऐ माबूद मैं दुआ करता हूँ तुझ से जैसा तूने हुक्म दिया है बस मेरी दुआ कबूल कर जैसा तूने वादा किया हैऐ मतलूब ! तलब करता हूँ तुझ से तेरी सबसे बड़ी बुज़ुर्गी में से और तेरी हर बुज़ुर्गी ही सबसे बड़ी हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी सारी बुज़ुर्गी के वास्ते, ऐ माबूद मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी सबसे दाइमी सुल्तानी में से और तेरी हर सुल्तानी ही दाइमी  हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी तमामतर सेल्तानी के वास्तेऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी सबसे बड़ी हुकूमत में से और तेरी हर हुकूमत ही बड़ी हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी सारी हुकूमत के वास्ते , ऐ माबूद! मैं दुआ करता हूँ तुझ से जैसा तूने हुकुम दिया है, बस मेरी दुआ कबूल फरमा जैसा तूने वादा किया हैऐ माबूद! तलब करता हूँ तुझ से  तेरी सबसे बड़ी बुलंदी में से और तेरी हर बुलंदी बहुत बड़ी है, ऐ माबूद मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी तमामतर बुलंदी के वास्तेऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी सबसे अजीब्तर निशानियों में से और तेरी सभी आयात अजीब हैं, ऐ अल्लाह! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी तेरी तमामतर आयातों के वास्तेऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे सबसे क़दीम एहसान का और तेरा हर एहसान क़दीम हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे सारे एहसान के वास्तेऐ माबूद! मैं दुआ करता हूँ तुझ से जैसा तूने हुक्म किया हैं बस मेरी दुआ कबूल फरमा जैसा तूने वादा किया है! ऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से इसके वास्ते जिसमें तेरी शान और तेरा ग़लबा अयाँ हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी हर शान और तेरे हर गल्बे के वास्तेऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तुझसे इस नाम के वास्ते जिससे तू जवाब देता है, मैं तुझ से मांगता हूँ, ऐ अल्लाह! ऐ वोह की तेरे सिवा कोई माबूद नहीं मैं सवाल करता हूँ "ला इलाह इल्ला अन्ता" के नूर के वास्ते, ऐ वोह की तेरे सिवा कोई माबूद नहीं मैं सवाल करता हूँ तुझ से ला इलाह इल्ला अन्ता के जलाल के वास्ते ऐ वोह की तेरे सिवा कोई माबूद नहींमैं तुझ से सवाल करता हूँ तुझ से ला इलाह इल्ला अन्ता  के वास्ते ऐ माबूद मैं दुआ करता हूँ तुझ से जैंसा तूने हुक्म दिया है बाद मेरी दुआ कबूल फरमा जैसा तूने वादा किया हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे वसी'अ तर रिज्क में से और तेरा हर रिजक वसी'अ हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे तमामतर रिजक के वास्तेऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी खुशगवार अता में से और तेरी हर अता खुशगवार हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से  तेरी तमा अता के वास्तेऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से  तेरी भलाई में से जल्द मिलने वाली का और तेरी हर भलाई जल्द मिलने वाली हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरी साड़ी भलाई के वास्तेऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे फज़ल में से बहुत बड़े फज़ल का और तेरा हर फज़ल बहुत बड़ा हैऐ माबूद! मैं सवाल करता हूँ तुझ से तेरे सारे फज़ल के वास्तेऐ माबूद! मैं दुआ करता हूँ तुझ से जैसा तूने हुक्म दिया है बस मेरी दुआ कबूल फरमा जैसा तूने वादा किया हैऐ माबूद! मोहम्मद (स:अ:व:व)और आले मोहम्मद  (अ:स) पर रहमत नाजिल फरमा  और उठा खड़ा कर मुझे जबकि तुझ पर मेरा ईमान हो, तेरे रसूल की तस्दीक करूँ और इनपर (स:अ:व:व) और इनकी आल (अ:स) पर सलाम हो और तस्दीक करूँ अली (अ:स) इब्न अबी तालिब (अ:स) की विलायत की, दूर रहूँ इनके दुश्मनों से और आइम्मा (अ:स) की पैरोकारी का के जो आले मोहम्मद (अ:स) में से हैं इन सब पर सलाम हो, बस मैं राज़ी हूँ इस बात पर, ऐ परवरदिगार! ऐ माबूद! हज़रत मोहम्मद (स:अ:व:व) पर रहमत फरमा जो तेरे बन्दे और तेरे रसूल हैं पहले लोगों में और हज़रात मोहम्मद (स:अ:व:व) पर रहमत फरमा पैगम्बरों में, ऐ माबूद! हज़रत मोहम्मद (स:अ:व:व) को अता फरमा ज़रिया-इ-बुलंदी, बड़ाई, और बुलंद से बुलान्द्तर मुक़ाम, ऐ माबूद, मोहम्मद (स:अ:व:व) और आले मोहम्मद (अ:स) पर रहमत फरमा और मुझे काने कर इस रिजक पर जो तूने दिया, बरकत दे इसमें जो तूने मुझे दिया, हिफाज़त कर मेरी गैबत में और इसमें जो मुझ से गायब है, ऐ माबूद! मोहम्मद (स:अ:व:व) और आले मोहम्मद (अ:स) पर रहमत नाजिल फरमा और मुझे उठा जबकि तुझ पर मेरा ईमान हो और तेरे रसूल की तस्दीक करूँऐ माबूद! मोहम्मद (स:अ:व:व) और आले मोहम्मद (अ:स) पर रहमत नाजिल फरमा और मैं सवाल करता हूँ तुझसे तेरी बेहतर से बेहतर खुशनूदी और जन्नत का और पनाह लेता हूँ तेरे सख्त से सख्त गज़ब और जहन्नम सेऐ माबूद! मोहम्मद (स:अ:व:व) और आले मोहम्मद (अ:स) पर रहमत नाजिल फरमा और मेरी हिफाज़त कर हर एक मुसीबत से हर एक मुश्किल से हर एक सज़ा से हर एक उलझन से हर एक त्तंगी से हर एक बुराई से, हर एक नापसंद अमर से, हर एक कठिनाई से, हर एक आफत से जो नाजिल हुई या नाजिल हो आसमान से ज़मीन की तरफ, इस मौजूदा घडी में, आज की रात में, आज के दिन में, इस महीने में, इस गुजरने वाले साल में! ऐ माबूद! मोहम्मद (स:अ:व:व) और आले मोहम्मद (अ:स) पर रहमत नाजिल फरमा और नसीब कर मुझे हर एक राहत, हर एक मुसर्रत, हर तरह की साबित कदमी, हर एक कुशादगी, हर एक आराम, हर तरह की सलामती, हर तरह की इज्ज़त, और हर किस्म की रोज़ी वसी'अ हल्ला व पाकीज़ा, हर तरह की नेमत, हर एक वुस'अत जो नाजिल हुई या नाजिल हो आसमान से ज़मीन की तरफ इस मौजूदा घडी में, आज की रात में, आज के दिन में, इस महीने में, इस गुजरने वाले साल में, ऐ माबूद! अगर मेरे गुनाहों ने तेरे सामने मेरा चेहरा पस-मुर्दा कर दिया, वोह मेरे और तेरे दरम्यान हायेल हो गए और तेरे सामने मेरा हाल खराब कर दिया है तो मैं सवाली हूँ तेरे नूर ज़ात के वास्ते जो बुझता नहीं और मोहम्मद (स:अ:व:व) की इज्ज़त के वास्ते जो तेरे चुने हुए दोस्त हैं और तेरे वली अली मुर्तजा (अ:स) की इज्ज़त के वास्ते और तेरे औलिया के वसीले से जिन को तूने पसंद किया है, यह की तूमोहम्मद (स:अ:व:व) और आले मोहम्मद (अ:स) पर रहमत नाजिल फरमा और यह की मैं जो गुनाह पहले कर चुका हूँ वोह माफ़ करदे  और बाक़ी जिंदगी में गुनाहीं से मुझे महफूज़ रख, और तेरी पनाह लेता हूँ, ऐ अल्लाह! इससे की तेरी नाफ़रमानी के किसी काम की तरफ पल्टू जब तक तू मुझे ज़िंदा रखे, यहाँ तक की मुझे मौत दे तो मैं तेरा अताअत गुज़ार और तू मुझ से राज़ी हो और यह की तू मेरे अमाल्नामे को नेकी पर ख़तम करे और इसके सवाब में मुझे जन्नत अता करे और मेरे साथ वो सलूक कर जो तेरे शायाँ है, ऐ बचाने वाले, ऐ परदापोशी करने वालेमोहम्मद (स:अ:व:व) और आले मोहम्मद (अ:स) पर रहमत नाजिल फरमा और अपनी रहमत से मुझ पर रहम फरमा ऐ सबसे ज्यादा रहम करने वाले !

अरबी में पढ़ें!

अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन बहा'इका बी'अबाहू व कुल्लू बहा'इका बहिय्य, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन बहा'इका कुल्लीह, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन जलालिका बी'जल्लीही व कुल्लू जलालिका जलील, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'जलालिका कुल्लीह, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन जमालिका बी'जमालिही, व कुल्लू जमालिका जमील अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'जमालिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़'अस्ताजिब ली कमा वा'अदतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अ'ज़मातिका बि'आ-ज़मातिका व कुल्लू अ'ज़मातिका अज़ीम, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि 'आ-ज़मातिका कुल्लीहा, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन नूरिका बी'अन्वारिही व कुल्लू नूरिका नय्यिर अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'नूरिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन रहमतिका बी'अव्सा'इहा व कुल्लू रहमतिका व असिया'अह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'रहमतिका कुल्लीहा अल्लाहुम्मा इन्नी अद'उका कमा अमर'तनी फ'अस्तजिब फ'ली कमा व आ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन कमालिका बी अक्मालिही व कुल्लू कमालिका कामिल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कमालिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कमालिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन कमालिका बी'अतम-महा व कुल्लू कलिमातिका ता'अममाह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कलिमातिका कुल्लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अस्मा'इका बी'अकबरिहा व कुल्लू इस्माईका कबीरह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'अस्मईका कुललिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर'तानी फ'अस्ताजिब ले कमा व अ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन ईज़'ज़िहा व कुल्लू ईज़ ज़तिका अज़िजः अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'ईज़-ज़तीका कुल'लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन मशी'अतिका बी'अम्ज़ाहा व कुल्लू मशी'अतिका माँ'ज़ियाह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि'मशी'अतिका कुल्लीहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बी'कुद'रतिकल लातिस-तत'अलता बिहा अला कुल्ली शै'इन व कुल्लू कुद'रतिका मुस'ततीलह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-कुद'रतिका कुल्लीहा अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमरतनी फ़ा'अस्तजिब ली कमा व अ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन'इलमिका बी'अन्फज़िही व कुल्लू इल्मिका नाफ़िज़ अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बीइलमिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन कौलीका बि-अर्ज़ाहू कुल्लू कौलीका रज़िय्य अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि'कौलीका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन मसाइलिका बि-अहअबबिहा व कुल'लहा इलय्का हबीबह, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मसाइलिका कुल्लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़ा'अस्ताजिब ली व अ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन शराफ़ा'इका बि-अश्रफ़िही व कुल्लू शराफ़ा'इका शरीफ़ अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-शराफ़ा'इका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन सुता'आनिका बि-अज़'वमिही व कुल्लू सुता'आनिका दा-ईम, अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-सुल्तानिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन मुलकिका बि-अफ'ज़रिही व कुल्लू मुलकिका फ़ाखिर अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मुलकिका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ'अस्ताजिब ली कमा व-अअदतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अला'इका बि-आ-लाहू कुल्लू अला'इका अ'अल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-अला'इका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन आयातिका बि-आ-जिबहा व कुल्लू आयातिका अजीब अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-आयातिका कुल्लिहा अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन ममन्निका बि-अक़'दामिही व कुल्लू मन्निका क़दीम अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मन्निका कुल्लीह अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ'अस्ताजिब ली कमा व-अअदतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मा अंता फ़िही मिनश शू-ऊनी वाल जबरूत अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिकुल्ली शानिन व कुल्ली जब्र्रोत अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-मा तुजिब'ऊनि बिही ह'ईना अस'अलुका या अल्लाह या ला इलाहा इल्ला अन्ता अस'अलुका बी'बहाई ला इलाहा इल्ला अन्ता या ला इलाहा इल्ला अन्ता अस'अलुका बिजलाली ला इलाहा इल्ला अन्ता या ला इलाहा इल्ला अन्ता अस'अलुका बि-ला इलाहा इल्ला अन्ता अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़ा'अस्तजिब ली कमा वा'आ'दतनी अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन रिज़'क़ी-का बि-अ-अम्मिही व कुल्लू रिज़'क़ी-का अआम्म अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिरिज़'क़ी-का कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन अता'ईका बि-अहना'इही कुल्लू अता'इका हनी'उन अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बि-अता'इका कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी असअलुका खैरिका बि-अज्लिही व कुल्लू खैरिका अ'अजिल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिखैरिका कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका मिन फ़ज़'लिका बि-अफ्ज़ालिही व कुल्लू फ़ज़'लिका फ़ा'अज़्लिका फाज़िल अल्लाहुम्मा इन्नी अस'अलुका बिफ़ज़'लिका कुल्लिही अल्लाहुम्मा इन्नी अदऊका कमा अमर्तनी फ़ा'अस्तजिब ली कमा वा'आ'दतनी अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद व बा'आस्नी अलल इमानी बिका वत'तस्दीकी बिरसूलिका अलय्ही व अलैहिस'सलाम वाल'विलायती ली'अली'इब्नी अबी तालिब वाल बरा'अति मिन अदूविही वल इतिमामी बिल अ'इम्मती मिन आले मोहम्मदीन अलैहिमुस'सलाम फ़'इन्नी क़द'रज़ीतु बी'ज़ालिका या रब्ब अल्लाहुम्मा सल्ली अला मोहम्मदीन अब्दिका व रसूलिका फ़िल अव्वलीन व सल्ली अला मोहम्मदीन फिल आखिरीन व सल्ली अला मोहम्मदीन फिल मला'इल आ'ा वा सल्ली अला मोहम्मदीन फिल मुरसलीन, अल्लाहुम्मा आ'ता-ई अल्लाहुम्मा आ'ता-इ  मोहम्मदी'नील वसीलता वश शर्फा वल फ़ज़ी'लता वद दारा'जातल कबीरह अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद   क़ननिया-नी बीमा रज़ा'क़तनी वा बारीक ली फ़ीमा आतय्तनी वह'फ़ज़'नी गैबती वा फ़ी कुल्ली ग़ा'इबिन हवा ली अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद वा बा'असनी अ'लल इमानी बिका वत तस्दीकी बिरसूलिका अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद व अस'अलुका खैरल खैरी रिज़'वानका वल जन्नता व अ-उज़ोबिका मिन शर्रिश शर्री सख्त'इका वन नार अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद वह-फ़ज़-नी मिन कुल्ली मुसीबतिन वा मिन कुल्ली बलिय्यातीं वा मिन कुल्ली उक़ू'बातिन वा मिन कुल्ली फितनातिन वा मिन कुल्ली बला-इन वा मिन कुल्ली शररिन वा मिन कुल्ली मकरूहिन वा मिन कुल्ली आ'फ़तिन न'ज़लत अव तन्ज़ीलू मीनास समा'इ इलल अर्ज़ी फ़ी हाज़िहिस सा'अती वा फी हाज़िहिल लैलती व फी हाज़ीहिल यौमी व फे हाज़िहिश शहरी वा फ़ी हाज़िहिस सनातिह अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्म्दीन व आली मोहम्मद वा अक्सीम ली मिन कुल्ली सुरू'रिन वा मिन कुल्ली बह'जतिन वा मिन कुल्ली इस्ती'क़ा-मतीन वा मिन कुल्ली फ़राजिन वा मिन कुल्ली आफ़ी'यतिन वा मिन कुल्ली सलामतिन वा मिन कुल्ली करामतिन वा मिन कुल्ली रिज़'किन वासी-ईन हलालिन तैय्यीबिन वा मिन कुल्ली नियामतिन वा मिन कुल्ली सा-अतिन नाज़ालत अव तंज़िलू मिनस समाई इलल अर्ज़ी फी हाज़िहिस सा'अती वा फ़ी हाज़िहिल लैलती वा फ़ी हाज़िहिल यौमी वा फी हाज़िहिश शहरी वा फ़ी  हाज़िहिस सनाह अल्लाहुम्मा इन कानत ज़ुनूबी क़द अख्लाक़त वजही इन्दका वा हां'आलात बैनी वा बय्नका वा गयारत हा'आली इनदका फ़ा इन्नी अस'अलुका बि-नूरी वाज'हिकल-लज़ी ला युत्फ़ा-ऊ वा बिवज्ही मोहम्मदीन हबीबिकल मुस्तफ़ा वा बिवजही वली'यिका अली'यिनल मुर्तज़ा वा बिहक़की औलिया'इकल लज़ी'नन -तजब'तहुम अन तू'सल्ली अला मोहम्मदीन वा आली मोहम्मदीन वा आली मोहम्मद वा अन तगफ़ीर ली मा मज़'आ मिन ज़ुनूबी वा अन'ता सिमानी फ़ीमा बकिया मिन उमरी वा अ'उज़ो-बिका अल्लाहुम्मा अन अ-उज़ो फ़ी शै'इन मिन मा'आ-अस'ईका अबदन मा अब'कै-तानी ह'अत्ता ततावफ़-फ़नी वा एना लका मुत' उन वा अंता अन्नी राज़ी'ईन वा अन तख़'तिमा ली अमाली बि-अह्सानिही वा तज'अ'लाली सवा'बहुल जन्नती वा अन तफ़'अला बी माँ अन्ता अहलुहु या अहलत तक़वा वा या अहलाल मग़फ़िरह या अहलाल  मग़फ़िरह सल्ली अला मोहम्मदीन वा आली मोहम्मद वा अर'हमनी बिरहमतिका या अर्हमर राहिमीन