﴾नमाज़े तहज्जुद से पहले पढ़ी जाने वाली दुआएँ﴿

बिस्मिल्लाह हिर रहमान अर'रहीम 

नमाज़े तहज्जुद की कैफियत निहायत ही आसान है की जिसे  हर शख्स बजा ला सकता है और वोह यह है की जैसे ही नींद से बेदार हो तो खुदा के लिए सर सजदे में रख दे, बेहतर है की इसी हाल में या सजदे से सर उठाते वक़्त यह दुआ पढ़े:  

खुदा के लिए हमद है, जिसने मुझ को मौत के बाद ज़िंदगी दी है और इसी के यहाँ हाज़िर होना है! खुदा के लिए हमद है, जिसने मेरी रूह पलटाई की इसकी हमद व इबादत करूँ! 

अलहम्दो लील'लाहे अल'लज़ी अह'यानी बा'अदा मा अमा'तनी व इलैहे अल्न'नशूर अलहम्दो लील'लाहे अल'लज़ी रद'दा अलैय्या रूही ला'अहमादाहू व अब्दोहू 

الْحَمْدُ لِلّٰہِ الَّذِی أَحْیانِی بَعْدَ ما أَمَاتَنِی وَإِلَیْہِ النُّشُور ُالْحَمْدُ لِلّٰہِ الَّذِی رَدَّ عَلَیَّ رُوحِی لاََِحْمَدَھُ وَأَعْبُدَھُ

पस जब उठ कर खड़ा हो जाए तो यह दुआ पढ़े:  

ऐ माबूद! कयामत के पुर'खौफ़ मंज़र में मेरी मदद फरमा, मेरी क़ब्र में फ़ाराखी कर दे और मुझे मरने का बाद भलाई अता फ़रमा 

अल्लाहुम्मा 'इन्ना अला हौले अल-मुत'तला-आ व वस'सा' अलैय्या अल'मज़'जा व अर' ज़ुक़नी खैरा मा बा'अदा अल'मौत

اَللّٰھُمَّ أَعِنِّی عَلَی ھَوْلِ الْمُطَّلَعِ و َوَسِّعْ عَلَیَّ الْمَضْجَعَ وَ ارْزُقْنِی خَیْرَ مَا بَعْدَ الْمَوْتِ۔ 

जब मुर्ग़ की आवाज़ सुने तो कहे : 

बड़ा पाक व पाकीज़ा मलाइका और रूह का परवरदिगार, खुदाया तेरी रहमत तेरी ग़ज़ब से आगे है, नहीं कोई माबूद सिवाए तेरे, मैंने 

बुराई और खुद पर सितम किया है पस मुझ एबख्श दे की तेरे सिवा गुनाहों को बख्शने वाला कोई नहीं है मेरी तौबा कबूल कर की यक़ीनन तू बड़ा ही तौबा क़बूल करने वाला है    

सुब'बूहून क़ुद'दूस रब्बा अल मला'इकते व अर'रूह सबा'क़त रह'मतोका ग़ा'ज़बोका ला ईलाहा इल्ला अन्ता, आमेलतो सौ'अन 

व ज़लम'तो नफ़्सी फ़ा'अग़'फ़िर्ली इन्नाहु ला यग्फ़ेरो अल्ज़'ज़ोनूबा इल्ला अन्ता फ़'अतूब अलैय्या इन्नका अ'अन्ता अल्त'तौव्वाबो अर'रहीमो  

سُبُّوْحٌقُدُّوسٌ رَبُّ الْمَلائِکَة وَالرُّوحِِ سَبَقَتْ رَحْمَتُکَ غَضَبَکَ ،لاَ إِلہَ إِلاَّ أَنْتَ،عَمِلْتُ سُوئاً

وَظَلَمْتُ نَفْسِی فَاغْفِرْ لِی إِنَّہُ لاَ یَغْفِرُ الذُّنُوبَ إِلاَّ أَنْتَ فَتُبْ عَلَیَّ إِنَّکَ أَنْتَ التَّوَّابُالرَّحِیمُ۔

जब आसमान की तरफ देखे तो कहे :

ऐ माबूद ! तारीक रात तुझ से कुछ भी नहीं छुपा सकती, ना बुरजों वाला आसमान और ना  हुई ज़मीन ना ही इसे त्तारीकियों के तले ऊपर तहें तुझ से कुछ छुपा सकती हैं, मौजें मारता हुआ समुन्दर जो रातों को चलने वालों के सामने बिफ़र जाता है, तू अपनी मखलूक़ में से जिसे  नवाज़ता है, तू आँखों की ग़लत हरकत को जानता है और सीने में छिपे राज़-ए-दिल को भी, ख़ुदाया डूब गए और टी ज़िन्दा व पाइन्दा है की तुझ को ना ऊंघ आती है ना नीँद घेरती है, अल्लाह पाक है जो जहानों का परवरदिगार है और पैगंबरों का माबूद है और हम्द है अल्लाह के लिए जो जहानों का रब है      

अल्लाहुम्मा इन्नाहु ला युवारी मिन्का लैलो साजिन वाला समा'ओ ज़ातो 'अबराजे वला अर्ज़ो जातो मेहादिन वला ज़ूल्मातो बा'अ-ज़ोहा फौका बा'अ-ज़िन वला बहरिन ल'जैय्या तुद'लेजो बैना 'दैय 'मुद्लीजी मिन खाल्क़ेका तुद्लेजो आर'रहमा अला मन तशा'ओ मिन खल्क़ेका ता'अ-लमो ख़ा'यी-नता अल'अयुन व मा तुख्फ़ी अल्स'सोदूरो ग़ा'राते अल्न'नोजूमो व ना'मते अल'ओ-यूनो व अन्ता अल'हैय्या अल'क़य्युमो ला-ता खुज़्का सिनाते वला नौमो सुब्हाना अल्लाहे रब्बा अल'आलामीना व इलाही अल'मुर्सालीना व अलहम्दो लिल'लाहे रब्बिल आलामीन 

اَللّٰھُمَّ إِنَّہُ لاَ یُوَارِی مِنْکَ لَیْلٌ ساجٍ وَلاَ سَمَاءٌ ذَاتُ أَبْرَاجٍ وَلاَ أَرْضٌ ذَاتُ مِہادٍ، وَلاَ ظُلُماتٌ بَعْضُہا فَوْقَ بَعْضٍ وَلاَ بَحْرٌ لُجِّیٌّ تُدْلِجُ بَیْنَ یَدَیِ الْمُدْلِجِ مِنْ خَلْقِکَ تُدْلِجُ الرَّحْمَةَ عَلَی مَنْ تَشاءُ مِنْ خَلْقِک تَعْلَمُ خایِنَةَ الْاَعْیُنِ وَما تُخْفِی الصُّدُورُ غارَتِ النُّجُومُ وَنامَتِ الْعُیُونُ وَأَنْتَ الْحَیُّ الْقَیُّوْمُ لاَ تَأْخُذُکَ سِنَةٌ وَلاَ نَوْمٌ سُبْحانَ اللهِ رَبِّ الْعالَمِینَ وَإِلہِ الْمُرْسَلِینَ وَالْحَمْدُ لِلّٰہِ رَبِّ الْعالَمِینَ۔

फिर सुरह आले ईमरान की यह पांच आयतें पढ़ें :

बेशक आसमानों और ज़मीन की पैदाइश में और रात दिन के आने जाने में साहिबान 

अक़ल के लिए निशानियाँ हैं जो खुदा को याद किया करते हैं, खड़े बैठे और लेते हुए भी, वोह आसमानों और ज़मीन की पैदाइश में गौर करते हैं (कहते 

हैं) ऐ हमारे रब तूने इनको बे मक़सद पैदा नहीं किया तेरी ज़ात पाक है पास हमें जहन्नुम के अज़ाब से बचा, हमारे रब जिसे तू जहन्नुम 

में दाखिल करेगा इसे रुसवा करेगा और ज़ालिमों का कोई मददगार भी नहीं है, हमारे रब हमने ईमान की मुनादी करने वाले की आवाज़ सुनी है 

की अपने रब पर ईमान लाओ तो हम ले आये पास हमारे रब तू हमारे गुनाह बख्श दे हमारी बुराइयों को मिटा दे और हमें नेक लोगों जैसी मौत दे 

हमारे रब हमें वोह चीज़ दे जिसका तूने रसूलों के ज़रिये वादा किया और हमें क़यामत में रुसवा न करना बेशक तू वादे के ख़िलाफ़ नहीं करता

इन्ना फ़ी ख़लक-अल्स'समावाते व अल'अर्ज़ व अख्तलाफ़ अल'लैल व अल्न'नहार 

ला'आयातेल उलिल'अल्बाब अल'लज़ीना यज़'कोरुना अल्लाह क़्यामन व क़'उदन व अला फ़ी जोनूब्हीम व यता'फ़क-करुना 

ख़लक अल'समावाते वाल अर्ज़, रब'बना माँ खलक़'ता हाज़ा बातेलन सुब'हानाका फ़ा'क़ेना अज़ाबन नार रब'बना 

इन्नका मन तुद'ख़िल अल्न'नार फ़'क़द अख़'ज़ै-तहू व मा लील्ज़-ज़ालेमीना मिन अन्सारे रब्बना इन'नना समे'अना मुना'दियन यूनादी  लील'इमाने अन' 'अमेनु बे रब्बाकुम फ़ा'अमन्ना रब्बाना फ़ा'अग्फ़िर-लना ज़ोनू'बना व कफ़्फ़र अन्ना सैय्यातेना व तवफ़'ना मा-अल'अबरार 

रब्बाना व आतेना मा व ला तुख़'ज़ेना यौमा व आद''ताना अल रोसोलेका मा'अल क़ियामते इन्नका ला तुख़'लेफ़ो अल'मी'यादा     

إِنَّ فِی خَلْقِ السَّمٰوَاتِ وَالْاَرْضِ وَاخْتِلاف اللَّیْلِ وَالنَّہار

لَاَیَاتٍ لِاُولِی الْاَلْبَابِ الَّذِینَ یَذْکُرُونَ اللهَ قِیاماً وَقُعُوداً وَعَلی فِی جُنُوبِھِمْ وَیَتَفَکَّرُونَ

خَلْقِ السَّمٰوَاتِ وَالْاَرْضِ رَبَّنا مَا خَلَقْتَ ھَذا باطِلاً سُبْحانَکَ فَقِنا عَذَابَ النَّارِ رَبَّنا

إِنَّکَ مَنْ تُدْخِلِ النَّارَ فَقَدْ أَخْزَیْتَہُ وَمَا لِلظَّالِمِینَ مِنْ أَنْصارٍ رَبَّنا إِنَّنا سَمِعْنامُنادِیاً یُنادِی 

لِلْاِیمانِ أَنْ آمِنُوا بِرَبِّکُمْ فَآمَنَّا رَبَّنا فَاغْفِرْ لَنا ذُنُوبَنا وَکَفِّرْ عَنَّا سَیِّئَاتِنا وَتَوَفَّنامَعَ الْاَبْرَارِ

 رَبَّنا وَآتِنا مَا وَلاَ تُخْزِنا یَوْمَ وَعَدْتَنا عَلَی رُسُلِکَ مالْقِیامَةِ اِنَّکَ لاَ تُخْلِفُ الْمِیْعَادَ

पस जब इबादत की तरफ मुतवज्जाह हो और बैत-अल्खिला जाने की ज़रुरत भी हो तो पहले बैत-अल्खिला जाए, जब वहाँ से निकले तो मिस्वाक करे, पूरी तौर पर वूज़ू करे, खुशबू लगाए और फिर नमाज़े शब् की अदाएगी के लिए मुसल्ले पर आ जाए!    

नमाज़े तहज्जुद शुरू करने से पहले की दुआ : 

MP3 Part 3
 

बिस्मिल्ला हीर रहमानिर रहीम 

अल्लाहुम्मा सल्ले अला मोहम्मदीन व आले मोहम्मद अल्लाहुम्मा इन्नी अतवज' जहो इलिका बे'नबीयेका नबिय्या अर' रहमते आलेही 'क़द'दा-मोहुम बैना यदा'यी हवा'एजी'यी फ़ा'अज'अल्नी बेहीम व्जीहन फी अल्द'दुन्या अल'आखेराते मिनल मुक़र'रेबीना अल्लाहुम्मा अर'हम्नी बेहीम ला तो'अज़ब-निई बेहीम व अह'देनी बेहीम ला तुज़िल'लनी बेहीम व अर'ज़ुक़नी बेहीम ला तह'रिम्नी बेहीम अक़'ज़े ली हवा'ईजा अल्द'दुन्या अल'आखेरते इन्नका अला कुल्ले शै'इन क़दीरो व बे कुल्ले शै'इन अलीमो    

بِسْمِ اللّهِ الرَّحْمنِ الرَّحِيْمِ

اَللّهُمَّ صَلِّ عَلى مُحَمَّدٍ وَ آلِ مُحَمَّدٍ

اَللّهُمَّ اِنِّي اَتَوَجَّهُ اِلَيْكَ بِنَبِيِّكَ نَبِيِّ الرَّحْمَةِ وَ آلِهِ

وَ اُقَدِّمُهُمْ بَيْنَ يَدَيْ حَوَ ائِجِي

فَاجْعَلْنِي بِهِمْ وَجِيْهًا فِي الدُّنْيَا وَ الآخِرَةِ

وَ مِنَ الْمُقَرَّبِيْنَ

اَللّهُمَّ ارْحَمْنِي بِهِمْ وَ لاَ تُعَذِّبْنِي بِهِمْ

وَ اهْدِنِي بِهِمْ وَ لاَ تُضِلَّنِي بِهِمْ

وَ ارْزُقْنِي بِهِمْ وَ لاَ تَحْرِمْنِي بِهِمْ

وَ اقْضِ لِي حَوَائِجَ الدُّنْيَا وَ الآَخِرَةِ 

اِنَّكَ عَلى كُلِّ شَيْءٍ قَدِيْرٌ

وَ بِكُلِّ شَيْءٍ عَلِيْمٌ

ईमाम ज़ैनुल आबेदीन (अ:स) की तहज्जुद से पहले की दुआ : 

MP3-Part 2
 

बिस्मिल्लाहिर रहमान अर'रहीम 

अल्लाहुम्मा सल्ले अला मोहम्मदीन व आले मोहम्मद 

इलाही ग़ा'रातो नजूमो समा'इका व ना' मत ओयूनो अनामेका हादातो अस' वातो इबादेका इन''मेका ग़लक' ती मोलूको अलैहा अबवा'बहा व ताफ़ा अलैहा हुर्रासोहा अह'त्जेबू अम्मन यस'लोहुम हाजतन औ यन'ताजे'ओ मिन्हुम क़ाए'दतन व अन्ता इलाही हैय्यो क़ैय्युमो ला'ता खोज़ूका सिनातुन व ला नौम व ला यश''लोका शै'यून अन शी'यी अब्वाबो समा'इका ल्लेमन द'आका मुफ़'ता'हातुन व ख़ज़ा'इ-नॊका ग़ैरो मुग़'लो'क़ातिन अब्वाबो रह' मतेका ग़ैरो माह'जूबातिन व फ़वा'एदोका लेमन सा'अल्का ग़ैरो महज़ू'रातिन बल हिया मब्दू'लातो अन्ता इलाहि अल'करीमो अल'लज़ी ला तरुद'दो सा'एलन मं अल'मोमेनीना सा'अलोका व ला तोह'ताजेबो अन अह्दीन मिन्हुम अरादाक ला व इज़'ज़तेका व जलालेका व ला तुख़'तज़ा'लो हवाइजो'हुम दु,नक व ला यफ़'ज़ी-लहा अह'दून ग़ैरोका अल्लाहुम्मा व क़द तरानी'इ व कौफ़े व दुल्ला मुक़ामी बैना यादय्का व ता'लमो सरी'रती व तुत्ले'ओ अला मा फ़ी क़ल्बी व मा यस'लेहो बह अमरो आखेरति व दुन्या' अल्लाहुम्मा इन्ना ज़िकरा अल'मौते व अहवाले अल'मुतले-ए व अल'वकुफ़ा बैना यदै'इका नग़'ग़स-नी मत'अमे-इ व मश'रबे'इ व अग़स'सा-नी-इ बी'रीक़ी-इ अक़'लुक़-नि'इ अन व सादे'यिई व मून'अनी-इ रुक़ा'दे-इ कैफ़ा यनामो मन यख़ा'फ़ों मलिका-अल्मौते फ़ी तवारिक़ अल'लैले व तवा'रेक़े अल्न'नहारे बल'कैफ़ा यनामो अल'आक़ेलो व मलाको अल'मौते ला यनामो ला बिल'लैले व ला बिल'नहारे व यत्लबो रू'हहु बिल'बयाते व फ़ी अना'ए अल्स'सा'आ-ते अस'अलोका आर'रूहा वर' राहत इन्दा अल'मौते व अल'अक़्वा अन्ना'इ हीना अल'क़ा-का 

दुसरे अहम् लिंक्स देखें

मुहर्रम 

सफ़र 

रबी'उल अव्वल  रजब 

शाबान 

रमज़ान  ज़िल्काद  ज़िल्हज्ज 
क़ुरान करीम  क़ुरानी दुआएँ  दुआएँ  ज्यारतें 
अहलेबैत (अ:स) कौन हैं? सहीफ़ा-ए-मासूमीन (अ:स) नमाज़ मासूमीन (अ:स) और दूसरी अहम् नमाज़ें  हज़रत ईमाम मेहदी (अ:त:फ़)
ईस्लामी क़ानून और फ़िक्ह  लाईब्रेरी  उल्मा-ए-दीन  इस्लामी महीने और ख़ास तारीख़ें

कृपया अपना सुझाव  भेजें

ये साईट कॉपी राईट नहीं है !